सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

जून 19, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

हर एक बेवकूफ.......

      हर एक बेवकूफ....... हर एक बेवकूफ दूसरे को  बेवकूफ बनाने मैं लगा है  काट के दूसरों का रास्ता  रास्ता अपना बनाने मैं लगा है  समझ के अपने को बड़ा स्मार्ट दूसरे के स्क्रू ढीले करने मैं लगा है पागल हैं पागल ही रहेंगे अपने को क्या पड़ा है  भटक के खुद रास्ता अपना दूसरों को भटकने मैं लगा है खा के नंबर दो का नंबर दो को  नंबर वन बनाने मैं लगा है दूसरों से कहता खा ले बेटा  हराम का खाने मैं क्या बुराई है  कर के बंदर बाँट काले धन का  कहता ये तो इज्जत की कमाई है  कहीं खुद न फंस जाये रिश्वतखोरी मैं मुझे फंसाने मैं लगा है  लूट ले इज्जत मेरी इज्जत अपनी बनाने मैं लगा है  बन के पागल खुद दूसरों को पागल बनाने मैं लगा है  जले खुद दूसरों की तरक्की देख कर  औरों को भी ईर्ष्या रुपी आग मैं धकेलने मैं लगा है यहाँ हर एक नंगा दूसरों को भी नंगा करने करने मैं लगा है